बूस्टिंग स्टेशन की दो मोटर खराब, पानी के लिए तरसे 15 कॉलोनियों के 35 हजार लोग|

16 Jun, 2020 | Haryana Bhiwani | Youth Haryana

पब्लिक हेल्थ कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते हनुमान गेट क्षेत्रवासी। संवाद न्यूज एजेंसी - फोटो

 

जनस्वास्थ्य विभाग के बूस्टिंग स्टेशन की दो मोटरें खराब होने और कर्मचारियों में आपसी तालमेल न होने से शहर की 15 कॉलोनियों के करीब 35 हजार लोग भीषण गर्मी में पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। दोनों बूस्टिंग स्टेशनों के कर्मचारी आपसी तालमेल से पानी की सप्लाई एक ही समय में नहीं छोड़ते, जिस वजह से पेयजल लाइन में पानी का प्रेशर नहीं बनता और पानी टेल हेड तक लगने वाले मकानों तक नहीं पहुंच पाता। इस समस्या को लेकर पहले भी कई कॉलोनियों के लोग जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को शिकायत दे चुके हैं और सीएम विंडों में भी शिकायत लगा चुके हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ है।

पिछले तीन दिनों से शहर के दादरी गेट, कोंट रोड शांति नगर के आसपास की करीब 15 कॉलोनियों में तीन दिन से पानी की आपूर्ति नहीं हुई। आपूर्ति न आने का कारण पूछने पर बूस्टिंग स्टेशन के कर्मचारी मोटर खराब होना बता रहे हैं, वहीं शनिवार को भी पानी की एक मोटर खराब हुई बताई गई, जबकि रविवार को पानी न आने का कारण दूसरी मोटर खराब होना बताई गई। पेयजल आपूर्ति न होने से लोगों का रोष भी बढ़ रहा है।
डाबर कॉलोनी जलघर के मुख्य बूस्टर से दादरी गेट और ढाणा रोड बूस्टिंग स्टेशनों को पानी की आपूर्ति दी जा रही है। इन दोनों ही बूस्टिंग स्टेशनों को पेयजल सप्लाई के समय एक ही साथ मोटरें चलाने पर पाइप लाइन में प्रेशर बनता है। जिसके बाद दादरी गेट से लेकर कोंट रोड, शांति नगर कॉलोनी लक्ष्मी नगर, डॉग फार्म तक पानी की आपूर्ति पहुंचती है। इसी तरह ढाणा रोड पर आंबेडकर कॉलोनी, हनुमान गेट क्षेत्र के काफी हिस्से में पेयजल आपूर्ति की जाती है। मगर पिछले काफी दिनों से दोनों ही बूस्टिंग स्टेशनों पर तैनात कर्मचारी एक साथ पानी की सप्लाई न देकर लापरवाही बरत रहे हैं। यही वजह है कि एक बूस्टिंग स्टेशन के चालू होने के बावजूद अधिकतर कॉलोनी के घरों तक पानी की आपूर्ति नहीं हो पाती।
हनुमान गेट क्षेत्र के लोगों ने जताया आक्रोश
हनुमान गेट क्षेत्र के लोगों ने पानी की समस्या को लेकर सोमवार को जनस्वास्थ्य विभाग कार्यालय में रोष जताया। लोगों ने अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की और हनुमान गेट, वाल्मीकि बस्ती, नई बस्ती क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति नियमित किए जाने की मांग की। उनका कहना था कि गर्मी के मौसम में दो से तीन दिन तक पानी नहीं आता, जबकि पहले भी काफी बार वे अधिकारियों के समक्ष शिकायतें दे चुके हैं। इलाका टेल पर है। आसपास के करीब 250 घरों में पीने के पानी की एक बूंद नहीं पहुंचती। लोगों ने चेतावनी दी कि अगर जल्द समाधान नहीं हुआ तो मटके लेकर महिलाएं सड़क पर बैठ जाएंगी। कोंट रोड शांति नगर क्षेत्रवासी जयभगवान, रामकिशन, नवीन कुमार, हरिश अरोड़ा, संजय धमीजा, विकास, ओमपति, सरला देवी, संतोष कुमारी, रामरती, शकुंतला ने बताया कि उनके इलाके में कई-कई दिनों तक पानी की आपूर्ति नहीं होती।
ये चल रही है प्लानिंग : कोंट रोड शांति नगर कॉलोनी सहित अनेक कॉलोनियों की पेयजल समस्या दूर करने के लिए पब्लिक हेल्थ विभाग करीब तीन किलोमीटर लंबी पेयजल लाइन रोहतक रोड स्थित डिफेंस कॉलोनी बूस्टिंग स्टेशन से डालेगा। पब्लिक हेल्थ के कार्यकारी अभियंता बलविंद्र नैन का कहना है कि इसका खाका तैयार हो चुका है। काम अमरूत योजना के तहत कराया जाएगा। डिफेंस कॉलोनी बूस्टिंग स्टेशन को निनान जलघर से पानी की सप्लाई दी जा रही है। जबकि डाबर कॉलोनी जलघर से कोंट रोड का हिस्सा काफी लंबा और दूर है, बीच रास्ते की लाइन में सैकड़ों अवैध कनेक्शनों की भरमार है। जिससे की यहां टेल हेड तक पानी नहीं पहुंच पाता। नई लाइन के बाद दो जलघरों से इस इलाके में पेयजल आपूर्ति का विकल्प भी बनेगा, जिससे एक जगह से हालत पतली होने पर दूसरी जगह से भी आपूर्ति जारी रखना संभव होगा।
शहर में पानी की कोई समस्या नहीं है। बिजली आपूर्ति नहीं होने की वजह से कुछ दिक्कतें आ रही हैं, जिन्हें दूर कराया जा रहा है। कुछ टेल हेड इलाके में भी परेशानी हैं, उनकी समस्या का स्थायी समाधान कराए जाने की प्रक्रिया भी चल रही है।
- बलविंद्र नैन, कार्यकारी अभियंता शहरी पेयजल शाखा भिवानी।